आखिर वो कौनसी राजनीतिक पार्टी है,जो राम मंदिर को बनने से रोक रही है

 जिनके मन में श्री राम है , 

भाग्य में उसके बैकुंठ धाम है ,

राघव के चरणों में जिसने जीवन वार दिया,

श्री राम ने उसका भविष्य सवांर दिया, 

श्रीराम मंदिर वह मुद्दा है जिसका सभी राजनीतिक दल चुनाव के समय खूब प्रयोग करते है। मुझे बड़े ही कष्ट के साथ कहना पड़ रहा है की इन नेताओ ने श्री राम को खिलौना बना लिया है की जब मन करे वो उनके साथ खेलें तथा जब समय (चुनाव ) निकल जाये तो उस पर ध्यान ही न दें। राम मंदिर मुद्दा कईं वर्षो से चल रहा है किन्तु आज तक कोई हल नहीं निकला। एक तरफ सुप्रीम कोर्ट ऐसे निंदनीय शब्दों का प्रयोग करती है जैसे भारत में अभी भी अंग्रेजों की हुकूमत हो सुप्रीम कोर्ट कहती है की राम मंदिर के लिए उनके पास वक्त ही नहीं
है। मैं सुप्रीम कोर्ट से एक सवाल करना चाहता हु की क्या धारा 377  इतना ज्यादा महत्वपूर्ण मुद्दा था जिसके लिए आपके पास बहुत समय था । हमारा देश जिस संस्कृति के लिए जाना जाता है शायद उसका ख्याल सुप्रीम कोर्ट ही नहीं रख रही वरना हिन्दुओ के आराध्य देवता श्री राम के लिए सुप्रेमे कोर्ट ऐसे अपशब्दों का प्रयोग न करती। 

Image result for shree ram mandir


अब बात करते है की वो कौनसी राजनीतिक पार्टी है जो राम मंदिर को बनने से रोक रही है 


मैं जब इस बारे में बात कर रहा हु तो आप सबके ज़हन में कांग्रेस,सपा, बसपा जैसी पार्टियां अवश्य  आयीं होगी किन्तु क्या आप जानते है की जिसे हिन्दुओ की सबसे हितैसी पार्टी के रूप में जाना जाता है जो हमेशा से ही हिन्दूत्व को साथ लेकर ही अपना चुनाव लड़ती है जी हाँ आपने सही समझा मैं बीजेपी की ही बात कर रहा हूँ. बीजेपी ही ऐसी पार्टी है जिसने सदैव ही हिन्दुओं की आस्था पर गहरी चोंट की है।  बीजेपी चाहे तो राम मंदिर अवस्य बनें क्योंकि भारत के अधिकांश राज्यों में बीजेपी की सरकार है केंद्र में भी बीजेपी तथा उत्तर प्रदेश में भी बीजेपी किन्तु सोचने वाली बात यह है की बीजेपी क्यों अपना ट्रम्प कार्ड खोना चाहेगी क्योंकि एक राम मंदिर ही एसा मुद्दा है जिसके बल पर बीजेपी भोली भली जनता को आस्था के नाम पर गुमराह करके अपना वोटबैंक भरती है यदि यह मुद्दा बीजेपी के हाथ से चला गया तो बीजेपी चुनाव के समय किस चीज की दुहाई देगी। 

मैं आशुतोष त्रिपाठी उम्मीद करता हूँ की अब आप समझ गए होंगे की बीजेपी का एजेंडा क्या है और वह किसका प्रयोग कर रही है यदि आप इस विषय में कुछ कहना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में अपना बहुमूल्य कमेंट जरूर दें। 

Post a Comment

0 Comments