इस बैंक के खाता धारकों के लिए बुरी खबर

अगर आप भी आईसीआईसीआई बैंक के कस्‍टमर हैं तो यह खबर आपके लिए है। बैंक के 'जीरो बैलेंस' खाताधारकों को 16 अक्टूबर से शाखा से हर कैश विदड्रॉल के लिए 100 रुपये से 125 रुपये का शुल्क देना होगा। यदि ग्राहक बैंक की शाखा में मशीन के जरिये पैसे जमा करते हैं तो उसके लिए भी उन्हें शुल्क भुगतान करना होगा।

ICICI बैंक ने शुक्रवार रात अपने अकाउंट होल्‍डर्स को जारी एक नोटिस में कहा है कि हम अपने ग्राहकों को बैंकिंग ट्रांजेक्‍शंस डिजिटल मोड में करने के लिए उत्‍साहित करते हैं, जिससे डिजिटल इंडिया इनिशिएटिव को बढ़ावा मिले।



आपको बता दें कि बैंक ने मोबाइल बैंकिंग या इंटरनेट बैंकिंग के जरिये होने वाले एनईएफटी, आरटीजीएस और यूपीआईटैक्शन्स पर लगने वाले तमाम तरह के शुल्क को खत्म कर दिया है। आईसीआईसीआई बैंक की शाखाओं से 10,000 रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक के एनईएफटी ट्रांजेक्‍शन पर 2.25 रुपये से लेकर 24.75 रुपये (जीएसटी अतिरिक्त) का चार्ज देना पड़ता है। 

वहीं, शाखाओं से दो लाख रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक किए जाने वाले आरटीजीएस ट्रांजेक्‍शन के लिए 20 रुपये से लेकर 45 रुपये (जीएसटी अतिरिक्त) का चार्ज देना पड़ता है। बैंक ने अपने 'जीरो बैलेंस' खाता होल्डर्स से अनुरोध किया है कि वे अपने खाते को या तो किसी अन्य बेसिक सेविंग्स खाते में बदल लें या खाता बंद कर दें। 

हाल ही में आईसीआईसीआई बैंक ने अपने उपभोक्‍ताओं के लिए कर्ज लेना सस्‍ता कर दिया है। देश के दूसरे सबसे बड़े केंद्रीय बैंक आईसीआईसीआई ने अपनी सभी परिपक्‍वता के ऋण की ब्‍याज दरों में 0.10 प्रतिशत की कमी की है। रिर्पोट के अनुसार बैंक ने सीमांत लागत पर आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) वाले सभी परिपक्‍वता अवधि के कर्जों पर ब्याज दर में यह कटौती की है।

Post a Comment

0 Comments